The Shepherd’s Treasure Hindi Summary, Moral and Objective

The Shepherd’s Treasure Hindi Summary, Moral and Objective

गड़ेरिये का खजाना एक प्रचलित ईरानी लोक कथा है। कहानी शुरू होती है एक छोटे से गाँव से, वह एक गरीब गड़ेरिया रहता था। उसने कोई स्कूल की शिक्षा नहीं ली थी क्योंकि वो काफी गरीब था और स्कूल भी उस समय बहुत कम होते थे। पर वो काफी बुद्धिमान और विनम्र था. काफी लोग उससे सलाह मांगने आते थे।

राजा द्वारा गड़ेरिये की परीक्षा  

गड़ेरिये की बुद्धिमानी और विनम्रता की चर्चा राजा के कानों में भी पहुंची। राजा ने गड़ेरिये की परीक्षा लेनी चाही। राजा ने एक साधारण गड़ेरिये का भेष बनाया और एक खच्चर पर बैठकर गरिये की गुफा पहुंच गया। गरिये ने राजा का स्वागत किये और अपने हिस्से का खाना भी राजा को खिलाया। राजा गड़ेरिये की विनम्रता से आशर्यचकित था। उसने रात वही गुफा में बितायी और सबरे वापस जाने का सोचा। उसने जाते शामे गड़ेरिये धन्यवाद कहा और जाने लगा। गड़ेरिये ने राजा की आखों में देखकर कहा “महाराज, हमे आपकी सेवा करने का अवसर मिल, उसके लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। राजा समझ गया की गरिया ना सिर्फ विनम्र है, बल्कि बहुत बुद्धिमान भी है। इसी तरह के लोगो की तो मुझे ज़रूरत है। राजा ने उसे एक जिला का गवर्नर बना दिया ।

गवर्नर के रूप में गड़ेरिया और दूसरे गवर्नर की ईर्ष्या 

गड़ेरिया गवर्नर तो बन गया पर अपनी पुराणी विनम्रता और आदर सत्कार के भाव को नहीं छोरा। जिले में उसकी ख्याति बढ़ती चली गयी। उसकी ख्याति से दूसरे जिलों के गवर्नर्स को उससे ईर्ष्या होने लगी. उन लोगों ने राजा के कान भरना शुरू कर दिया, और रखा को कहा की “गड़ेरिया सदैव एक लोहे का बक्सा अपने साथ रखता है उसमे ज़रूर सोने-चांदी और जेवरात होंगे! राजा यूँ तो साडी बात एक कान से सुनकर दूसरे कान से निकाल देता था पर अब राजा को पता था की गवर्नर एक लोहे का बक्सा सदैव अपने पास रखता है।  उसने गवर्नर को महल में आना का बुलावा भेज दिया।

बक्से का सच

गरिया अपने ऊँट पर सवार होकर महा आ गया. उसके साथ उसका बक्सा भी ऊँट से लगा हुआ था। सभी लोग जानना चाहते थे की उस बक्से में क्या है। राजा ने बक्से को देखा और गरज कर कहा “गवर्नर तुम उस बक्से को अपने पास हमेशा क्यों रखते हो? आखिर उसमे क्या है? गड़ेरिया मुस्कुराया और अपने नौकर को बक्सा लाने को कहा. उस बक्से में एक पुराना कम्बल  हुआ था. गड़ेरिये ने कम्बल को हाथ में लाइट और गर्व से राजा को दिखाया। राजा ने कहा तुम एक गवर्नर हो, तुम्हे ऐसे साधारण से कम्बल की क्या ज़रूरत है. गड़ेरिये ने उत्तर दिया, महाराज यह कमबल मेरा सबसे पुराना दोस्त है , जब आप मुझे बर्खास्त कर देंगे और मेरे पास कुछ भी ना होगा तब भी यह कम्बल मेरा साथ नहीं छोड़ेगा।

राजा का इनाम

राजा  गद-गद था जबकि सारे गवर्नर्स अपने किये पर शर्मिंदा थे। राजा ने गड़ेरिये को एक बड़े जिले का गवर्नर बना दिया।

कहानी का सारांश और मूल 

इस कहानी में हम देखते हैं की एक सादे रहन सहन वाला गड़ेरिया अपनी बुद्धिमता और विनम्रता से सबका दिल जीत लेता है और बड़ा आदमी बनने पर भी अपनी विनम्रता और सादे रहन सहन को नहीं छोड़ता है। हमे भी एक सादा और उच्च विचार वाला जीवन अपनाना चाहिए। अगर हम वैसा करेंगे तो न सिर्फ उचाईयों पर पहुंचेंगे बल्कि सभी का दिल भी जीत लेंगे।

Read this summary in English: The Shepherd’s Treasure Summary, Moral and Objective

A pact with the Sun
  1. A Tale of Two Bird.
  2. The Friendly Mongoose.
  3. The Shepherd’s Treasure.
  4. The Old-Clock Shop.
  5. Tansen.
  6. The Monkey and the Crocodile.
  7. The Wonder Called Sleep.
  8. A pact with the Sun.
  9. What Happened to the Reptiles.
  10. A Strange Wrestling Match.

Ref: A Pact with the Sun, NCERT.

Leave a Comment