The Selfish Giant Summary in Hindi

The Selfish Giant Summary in Hindi; Class 8 It so Happened Chapter 3 Hindi summary

Introduction:

“The Selfish Giant” स्वार्थी राक्षस “ऑस्कर विल्डे”  की एक खूबसूरत काल्पनिक कहानी है। यह कहानी एक प्ले गार्डन के इर्द-गिर्द घूमती है जो बच्चों की मौजूदगी में खिल जाता है जबकि बच्चों की अनुपस्थिति में सूख जाता है। यह कहानी हमें बच्चों को सही तरीके से व्यवहार करना सिखाती है। कहानी शुरू करते हैं।

किसी शहर में एक प्यारा सा बगीचा था। स्कूल के समय के बाद बच्चे वहां खेलते थे। वहाँ कई घास के फूल और आड़ू (peach) के पेड़ थे। पेड़ बच्चों को खुश करते थे और पक्षी मंत्रमुग्ध होकर गीत गाते थे। वसंत में पौधे फूल लाया करते थे जबकि सर्दियों में वे मीठे फल देते थे। बच्चे कभी भी इतना खुश नहीं हुए थे । लेकिन यह खुशी ज्यादा दिन नहीं टिक पाई।

स्वार्थी राक्षस का आगमन

उद्यान (गार्डन) एक स्वार्थी राक्षस का था। वो राक्षस सात साल के लिए अपने दोस्त के घर पर था, लेकिन अब वह लौट आया था। उसने बगीचे में खेल रहे बच्चों को डांटा और उद्यान के चारो तरफ दीवाल खड़ा कर दिया ।

बगीचे में लगातार सर्दी

अब पेड़, घास और पक्षियों  उदास थे क्योंकि उनकी टहनियों के चारों ओर घूमने और पक्षी के गीत को सुनने वाला कोई नहीं था। जब पक्षियों ने गाना बंद कर दिया और पेड़ ने फूल खिलाना बंद कर दिया। अब पूरे देश में वसंत(spring) आ गया था , लेकिन उन्होंने बगीचे में प्रवेश नहीं किया। (गाइड: कहानी यूरोपीय देशों के अनुसार लिखी गई है। वहां की सर्दियों कीअवधि लंबी होती है, और गर्मियों के स्थान पर केवल वसंत का मौसम होता है)

नतीजतन, अभी भी सर्दी थी। एक बार एक फूल ने अपना सिर उठाया भी। पर उन्होंने giant का नोटिस बोर्ड देखा और पीछे हट गए।

परेशान  जायंट 

अब जायंट बेचैन था। इतनी लंबी सर्दी का कारण उसे समझ नहीं आ रहा था। बर्फ(snow ) ने घास को सफेद चादर से ढक दिया था और ठंढ(frost) ने सभी पेड़ों को चांदी के रंग से रंग दिया था। फ्रॉस्ट और बर्फ ने नॉर्थविंड (उत्तर से सर्द हवाओं) को आमंत्रित कर दिया। पूरे बाग में उत्तर की ठंडी हवाएँ चलने लगी । उत्तरी हवाओं ने बगीचे में ओलावृष्टि (hailstorm) को बुला लिया  ओलों ने सभी चिमनी और छत के स्लेट तोड़ दिए।

बगीचे में वसंत का आगमन

एक दिन बच्चों ने दीवार में एक छेद किया और बगीचे में प्रवेश किया। बच्चों के आने के साथ ही बसंत आ गया, पक्षी गाने लगे। जायंट की नींद टूटी । उन्होंने लंबे समय तक गाने नहीं सुने थे। चिड़ियों के चहकने का एहसास उसे राजा के संगीतकार के गीत की तरह लग रहा था ।

जायंट उठा और बाहर देखा। उसने बच्चों को बगीचे में खेलते देखा। वहां पेड़ अपनी टहनियाँ नीचे झुका कर करके बच्चों का स्वागत कर रहे थे। जायंट समझ गया कि वसंत इतनी देर से क्यों आया।

छोटा बच्चा

जायंट नेबगीचे में एक अकेले बच्चे को देखा, जो पेड़ पर चढ़ने की कोशिश कर रहा था। उस पेड़ पर अभी भी फ्रॉस्ट और बर्फ जमी हुई थी। पेड़ ने पहले ही अपनी शाखाओं को नीचे कर दिया था, लेकिन बच्चा अभी भी चढ़ने के लिए बहुत छोटा था। अकेले ने धीरे से गेट खोला और बच्चे को चढ़ने में मदद की। बच्चा खुश था, और उसने विशाल के गाल को चूमा। अन्य बच्चे विशाल से भयभीत थे और भाग रहे थे। लेकिन जब उन्होंने विशाल को लड़के की मदद करते देखा, तो वे भी खुश हो गए। विशाल ने बाकि बच्चे को रोज आने के लिए कहा और दीवार तोड़ दी।

गायब  बच्चा

अब बच्चों ने बगीचे में रोज आना शुरू कर दिया और विशाल को जाते समय धन्यवाद दिया। विशाल ने उस छोटे बच्चे के बारे में पूछा। अन्य बच्चे भी उस छोटे बच्चे के बारे में नहीं जानटे  थे। उन्होंने बताया कि उन्होंने भी उस बच्चे को पहली बार ही देखा था। दिन बीत गए जायंट अभी भी उसे याद कर रहा था क्योंकि वह वही लड़का था जिसने उसके गालों पर चूमा था।

रहस्यमय बच्चे का आगमन

साल बीत गए, और जायंट अब बूढ़ा और कमजोर हो गया था , लेकिन वह उस बच्चे को कभी नहीं भूल पायाथा। वह अब सर्दियों से नहीं डरता था क्योंकि उसे पता था कि सर्दी एक न एक दिन गुजर ही जाएगी। एक दिन उसने उसी छोटे बच्चे को फिर से उसी पेड़ पर खेलते देखा। जायंट खुश हो गया और “तुम इतने दिनों से कहाँ थे ” चिल्लाते हुए उसकी ओर दौड़ा। जब वह बच्चे के पास पहुंचा, तो उसने बच्चे के हाथ और पैरों पर बड़ी-बड़ी नाखूनों के निशान देखने को मिला। जायंट गुस्से में आग-बबूला था और  पूछ रहा था कि यह कैसे हुआ। बच्चा जवाब देता है “ये प्यार के घाव हैं”।

जायंट को लड़के के पहचान  के बारे में संदेह हुआ. उसने लड़के से उसके बारे में पूछा। लड़का एक फरिश्ता(angel) था। वह जायंट को स्वर्ग(paradise) में ले जाने के लिए आया था। बच्चे ने जवाब दिया, “एक बार आपने मुझे बगीचे में जाने दिया, अब मैं आपको स्वर्ग ले जाने आया हूं।”

अगले दिन दोपहर में बच्चे खेलने के लिए आए। उन्होंने देखा कि जायंट पेड़ के पास  मरा पड़ा था और सफेद फूलों ने उसे अपने से ढक रखा था।

Next:  The Selfish Giant Summary in English.

The Selfish Giant question answer solution.

See also:

2. Children at Work Summary.

1. How the Camel got the hump Summary.

The Selfish Giant Summary in Hindi; Class 8 It so Happened Chapter 3 Hindi summary

Leave a Comment